शब्-ए-याद

आज शब – ए – याद में ए दिल कोई बहल नहीं . सबा में वो लहर नहीं , जुबां पे वो ग़ज़ल नहीं . इंतज़ार -ओ -दिलबर में बसर है , असर नहीं , उनपे ऐतबार कहाँ ? वोह आज हैं , वोह कल नहीं . फ़िराक-ए -फ़ुरक़त में आँखें बंद थी बा -शबContinue reading “शब्-ए-याद”

आबशार-ए-आरज़ू

– दुआ है इस बार तू इस कदर मिले यगाना मुक़द्दर मिले, सुहाना हमसफ़र मिले… ___ – कई बहते हैं दिल से आबशार-ए-आरज़ू किस मैं डूब जाऊं के सागर मिले? ___ – मंजिल के लिए कोसों चला लीजिये, पुराना कोई मुसाफिर वहाँ गर मिले! ___ – मुट्ठी-भर ख़्वाबों के बीज लिए चला हूँ, डर है के सर-ज़मीन न बंजर मिले… ___ -सबको गलेContinue reading “आबशार-ए-आरज़ू”

Har chaahat

Har chaahat chhod khalish-si gayi koi Jaan wajood-e-khwahish main hai kami koi… Junoon-e-jawaani main beqaabu hain waa-rastah Ye bujhti aag bhi de jaayegi nami koi… Ik zarrah door thi maqsood manzil-e-muqammal Baat banti hi thi, ke na bani koi. Har mehfil main be-iqtiza haazir rehte hain mutawaqqi’ Ke humse bhi kucch kahe, kucch poocche, kabhiContinue reading “Har chaahat”

Chuppi

Koi Fariyaad is dil main hai Baithi hai sikud ke … naadaan, khafaa… Gehri Saanson ke aakhri pal main, Uski maujoodgi ka ehsaas hai. Koi fariyaad is dil main hai Chhupi hai seenay main… gumsum,chup-chaap… Lot-ti sookhe aansuon-si chehre pe, Us gudgudi main uski aahat hai. Par in adaaon se fariyaad ne kya paaya? ChhupneContinue reading “Chuppi”